मनोज बाजपेयी

देवेश प्रताप

भीकू मात्रे ये नाम से कोई अनजान नहीं ......1998 में सत्या फिल्म में एक नकरातमक छवि का किरदार निभाने वाले मनोज बाजपेयी को दर्शको ने खूब पसंद किया । मनोज बाजपाई का जन्म बिहार के एक छोटे से गाँव बेलवा में हुआ । दिल्ली युनिवेर्सिटी से इन्होंने अपनी स्नातक कि पढाई पूरी कि ।
मनोज बाजपेयी एक माझे हुए कलाकार है । इनके द्वारा निभाया गया किरदार दिमाग पर एक छवि छोड़ जाता है । 1998 में बेहतरीन अभिनेता कि लिए इन्हें film fare award से नवाजा गया । बेहतरीन सह अभिनेता के लिए राष्ट्रिय पुरस्कार से सम्मानित किया गया ।
मनोज बाजपेयी को फिल्मे तो मिलती रही है ....लेकिन सफलता कि उन उच्चाई को नहीं छु पाई जिनके वो हकदार थे । यु तो इन्होने अपने किरदार को निभाने मेन कोई कसर नहीं छोड़ा .....चाहे वो जुबेदा हो पिंजर फिल्म । मनोज बाजपाई ने अपना भाग्य तमिल फिल्म में भी अपना लेकिन वहाँ से भी उन्हें उतनी सफलता हाथ नहीं लगी जितने उन्हें उम्मीद थी । इनके द्वारा कि गयी फ़िल्में भले ही बॉक्स ऑफिस पर जायदा न टिकी हो लेकिन .....अभिनय के मामले में कोई दो राय नहीं थी .....इनके इसी अभिनय के देखते हुए प्रकाश झा ने राजनीति फिल्म में मनोज बाजपाई को एक बार फिर से अपने अभिनय का प्रदर्शन करने का मौका मिला ......और फिर से इन्होने अपने बेहतरीन अभिनय से अपने आपको साबित कर दिया ......राजनीति मेन नाना पाटेकर से लेकर अजय देवगन तक मझे हुए कलकारों के बीच में दर्शको का सबसे ज्यादा प्यार इन्हें ही प्राप्त हुआ .....हाला कि राजनीति फिल्म में सभी कलाकार ने अपने किरदार को बखूभी निभाया है । लेकिन फिल्म देखने और सिनेमा हाल से बाहर निकलने के बाद मनोज बाजपेयी का ही कारदार यादगार रह जाता है .........फिल्म हर एक संवाद को बहुत बेहतरीन तरीके से व्यक्त किया है .........तथा इस फिल्म कि सफलता ने मनोज बाजपेयी को एक बार फिर उचाईयों पर पहुंचा दिया ।
हमारी तरफ से मनोज बाजपेयी को ढेर सारी शुभकामनाएं ..........हम कामना करते है कि वो इसी तरह बुलंदियों को छु ते रहे .

13 Response to "मनोज बाजपेयी"

  1. JHAROKHA says:
    July 14, 2010 at 11:48 PM

    devesh ji, manoj ji ke baare me aapke lekh ko padh kar aur jyda jaan kaari mili.aur mai bhi aapki baat se sahmat hun ki manoj ji ne apni vilakshan pratibha ke bal par apna naam manjhe huye kalakaron ke saath judva liya.
    poonam

  2. डॉ.भूपेन्द्र कुमार सिंह says:
    July 20, 2010 at 9:06 AM

    Sunder Blog Devesh,bahut prod feel hota hai apno ka skill and technique dekh kar.Jute raho ham sab saath hai ,der ho sakti hai par bhoolna nahi ho sakta.kaise ho ,batana?
    sasneh,
    Dr.bhoopendra
    jeevansandarbh.blogspot.com

  3. निर्मला कपिला says:
    August 9, 2010 at 8:48 AM

    रात मे आयी हूँ रंग संयोजन के कारण अच्छी तरह पढ नही पाईऊ कल सुबह पढती हूँ। शुभकामनायें

  4. Thakur M.Islam Vinay says:
    December 14, 2010 at 7:41 AM

    पांच लाख से भी जियादा लोग फायदा उठा चुके हैं
    प्यारे मालिक के ये दो नाम हैं जो कोई भी इनको सच्चे दिल से 100 बार पढेगा।
    मालिक उसको हर परेशानी से छुटकारा देगा और अपना सच्चा रास्ता
    दिखा कर रहेगा। वो दो नाम यह हैं।
    या हादी
    (ऐ सच्चा रास्ता दिखाने वाले)

    या रहीम
    (ऐ हर परेशानी में दया करने वाले)

    आइये हमारे ब्लॉग पर और पढ़िए एक छोटी सी पुस्तक
    {आप की अमानत आपकी सेवा में}
    इस पुस्तक को पढ़ कर
    पांच लाख से भी जियादा लोग
    फायदा उठा चुके हैं ब्लॉग का पता है aapkiamanat.blogspotcom

  5. क्रिएटिव मंच-Creative Manch says:
    January 14, 2011 at 2:18 AM

    manoj ji ki ham bhi prashansak hain.
    aapka lekha bahut achha laga

    aabhaar

  6. डॉ.भूपेन्द्र कुमार सिंह says:
    January 31, 2011 at 8:27 AM

    dEVESH ,bahut sunder blog badhiya samagri ke saath ,acchalikh rahe ho par meras sujhav hai apney ko condense kijiye.oorja bikhar jaati hai.Kaise ho,kaha ho ,batana?
    sasneh,
    dr.bhoopendra

  7. डॉ.भूपेन्द्र कुमार सिंह says:
    April 12, 2011 at 7:23 AM

    Hi dear devesh,how u?where r u now adays?kya o raha hai? yr clour combination looks gaudy,plmake it a bit lighter.
    viswas hai badhiya honge/sasneh,
    dr.bhoopendra \
    rewa
    mp

  8. SM says:
    August 8, 2011 at 4:17 PM

    full of info
    nice article

  9. शालिनी कौशिक says:
    August 16, 2011 at 1:46 AM

    देवेश जी मनोज वाजपेयी के बारे में जो भी आपने लिखा है एक एक शब्द सत्य है.हम भी उनकी प्रतिभा के कायल हैं .ब्लॉग जगत में आपका हार्दिक स्वागत है.

  10. जाट देवता (संदीप पवाँर) says:
    August 17, 2011 at 3:33 AM

    जानकारी देने का आभार

  11. Sawai Singh Rajpurohit says:
    August 22, 2011 at 5:25 AM

    आपको एवं आपके परिवार "सुगना फाऊंडेशन मेघलासिया"की तरफ से भारत के सबसे बड़े गौरक्षक भगवान श्री कृष्ण के जनमाष्टमी के पावन अवसर पर बहुत बहुत बधाई स्वीकार करें लेकिन इसके साथ ही आज प्रण करें कि गौ माता की रक्षा करेएंगे और गौ माता की ह्त्या का विरोध करेएंगे!

    मेरा उदेसीय सिर्फ इतना है की

    गौ माता की ह्त्या बंद हो और कुछ नहीं !

    आपके सहयोग एवं स्नेह का सदैव आभरी हूँ

    आपका सवाई सिंह राजपुरोहित

    सबकी मनोकामना पूर्ण हो .. जन्माष्टमी की आपको भी बहुत बहुत शुभकामनायें

  12. S.N SHUKLA says:
    September 14, 2011 at 9:36 PM

    DEVESH JI,
    Aapaki post bahut sargarbhit hai,badhai,
    मेरी १०० वीं पोस्ट , पर आप सादर आमंत्रित हैं

    **************

    ब्लॉग पर यह मेरी १००वीं प्रविष्टि है / अच्छा या बुरा , पहला शतक ! आपकी टिप्पणियों ने मेरा लगातार मार्गदर्शन तथा उत्साहवर्धन किया है /अपनी अब तक की " काव्य यात्रा " पर आपसे बेबाक प्रतिक्रिया की अपेक्षा करता हूँ / यदि मेरे प्रयास में कोई त्रुटियाँ हैं,तो उनसे भी अवश्य अवगत कराएं , आपका हर फैसला शिरोधार्य होगा . साभार - एस . एन . शुक्ल

  13. Vaneet Nagpal says:
    October 25, 2011 at 9:47 AM

    दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं |
    आप के लिए "दिवाली मुबारक" का एक सन्देश अलग तरीके से "टिप्स हिंदी में" ब्लॉग पर तिथि 26 अक्टूबर 2011 को सुबह के ठीक 8.00 बजे प्रकट होगा | इस पेज का टाइटल "आप सब को "टिप्स हिंदी में ब्लॉग की तरफ दीवाली के पावन अवसर पर शुभकामनाएं" होगा पर अपना सन्देश पाने के लिए आप के लिए एक बटन दिखाई देगा | आप उस बटन पर कलिक करेंगे तो आपके लिए सन्देश उभरेगा | आपसे गुजारिश है कि आप इस बधाई सन्देश को प्राप्त करने के लिए मेरे ब्लॉग पर जरूर दर्शन दें |
    धन्यवाद |
    विनीत नागपाल

Post a Comment